Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 3 ओ मेरे पिता

You can Download ओ मेरे पिता Questions and Answers, Summary, Activity, Notes, Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 3 help you to revise complete Syllabus and score more marks in your examinations.

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 3 ओ मेरे पिता (कविता)

ओ मेरे पिता Summary in Malayalam and Translation

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 3 ओ मेरे पिता 1

HSSLive.Guru

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 3 ओ मेरे पिता 2

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 2 राग गौरी

You can Download राग गौरी Questions and Answers, Summary, Activity, Notes, Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 2 help you to revise complete Syllabus and score more marks in your examinations.

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 2 राग गौरी (पद)

राग गौरी Text Book Activities

प्रश्ना 1.
समानार्थी शब्द कविता में ढूँढ़ें :
उत्तर:

खड़ीबोली व्रज
मुझे मोहिं
मुझसे मोसों
तुझे तोहि
क्रोध रिस
श्याम स्याम
देखकर लखि

HSSLive.Guru

प्रश्ना 2.
कविता में कृष्ण अपनी माँ से कुछ शिकायतें कर रहा है। कविता के प्रसंग में यशोदा और बालक कृष्ण के बीच का वार्तालाप लिखें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 2 राग गौरी 1
उत्तर:
यशोदा : बेटा, क्या हुआ? बताओ न?
कृष्ण : क्या बताऊँ? जाके भैया से पूछ।
यशोदा : बोलो मेरे लाल,क्या हुआ?
कृष्ण : बलराम भैया बहुत तंग करता है मुझे। कहता है मुझे मोल में लिया है?
यशोदा : ऐसा कहा उसने!
कृष्ण : हाँ मैया, उसी के वास्ते मैं खेलने भी नहीं जाता। तेरी माँ कौन है, पिता कौन है कहकर बहुत चिढ़ाता है।
यशोदा : फिर?
कृष्ण : भैया कहता है माँ गोरी हैं, पिताजी गोरे हैं, केवल तू ही काला है।
यशोदा : सच? उसने ऐसा कहा?
कृष्ण : हाँ माँ, दूसरे लड़के भी मेरा मज़ाक करते हैं। भैया ने ही उन्हें सब कुछ सिखाया है।
यशोदा : ऐसा थोड़ा ही है?
कृष्ण : मुझे पता है, तू तो हमेशा भैया के साथ देती है। तू मुझे ही मारती है, भैया को कभी नहीं।
यशोदा : सुनो कान्ह, तेरा भैया तो जन्म से ही झूठा है। उसका कहना मत मान।
कृष्ण : माँ, तू मुझे मनाने के लिए ऐसा कहती है न?
यशोदा : नहीं..नहीं… मैं कसम खाती हूँ कि तू मेरा लाल है और मैं तेरी माँ।
कृष्ण : सच माँ?
यशोदा : सच।

राग गौरी Summary in Malayalam and Translation

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 2 राग गौरी 2

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ

You can Download मेरी ममतामई माँ Questions and Answers, Summary, Activity, Notes, Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 help you to revise complete Syllabus and score more marks in your examinations.

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ (संस्मरण)

मेरी ममतामई माँ Textual Questions and Answers

मेरी ममतामई माँ विश्लेषणात्मक प्रश्न

प्रश्ना 1.
एकल परिवार और संयुक्त परिवार की अपनी – अपनी विशेषताएँ हैं। चर्च करें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 1
उत्तर:
कल परिवार का अर्थ है कि एक ऐसा परिवार जिसमें पति, पत्नी और उनके बच्चे ही रहते हैं। एक ऐसा परिवार जहाँ माता – पिता, बेटे – बहू, पोते – पोती, चाचा-चाची और ताऊ- ताई आदि एकसाथ रहते हैं उसे हम संयुक्त परिवार कहते हैं।
विशेषताएँ:
1. एकल परिवार छोटे होते हैं जबकि संयुक्त परिवार बड़े होते हैं।
2. एकल परिवार में खर्च कम होते हैं जबकि संयुक्त में अधिक खर्चे होते हैं।
3. एकल परिवार में लोगों को एकांत अधिक मिल पाता है जबकि संयुक्त परिवार में इस चीज़ की कमी होती है।
4. एकल परिवार में बच्चे अपने दादा-दादी, नाना-नानी के प्यार से वंचित रह जाते हैं जबकि संयुक्त परिवार में उन्हें अपने दादा – दादी, नाना – नानी आदि का भरपूर प्यार और संस्कार मिल पाते हैं ।
5. एकल परिवार में अच्छा-बुरा सलाह के लिए किसी बड़े अनुभवी का साथ नहीं मिल पाता जबकि संयुक्त में अनुभवी व्यक्ति की सलाह से कई समस्याएँ चुटकियो में सुलझ जाती है।
6. एकल परिवार में बच्चे संस्कृति और संस्कारो में पीछे रह जाते हैं जबकि संयुक्त परिवार में बच्चों को अच्छे संस्कार और संस्कृति को जानने का मौका मिल पाता है।
7. एकल परिवार में यदि कोई एक व्यक्ति बीमार हो जाता है तो देखभाल के लिए कोई भी नहीं होता है जबकि संयुक्त परिवार में यदि कोई बीमार हो जाता है तो सहायता और देखभाल के लिए कई लोग मिल जाते हैं और बड़ों का अनुभव भी मिलता है।

HSSLive.Guru

प्रश्ना 2.
‘शहर में सबसे पहले मैं ही लोगों तक समाचार-पत्र पहूँचाता था।’- इस प्रस्ताव से बालक कलाम का कौन-सा मनोभाव प्रकट होता है?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 2
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 3
उत्तर:
कलाम एक ईमानदार बालक है। वह अपना दायित्व ठीक तरह से निभानेवाला है। समय की पाबंदी लगाने में वह सफल रहा। वह हमेशा मेहनती नज़र आता है।

प्रश्ना 3.
“उन्होंने अपने हिस्से की भी सारी रोटियाँ तुम्हें दे दी”-भाई की इस बात पर बालक कलाम की प्रतिक्रिया क्या होगी?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 4
उत्तर:
बालक कलाम को अपनी माँ के प्रति ममता के मारे सिहरन आ गई। वह अपने आपको रोक नहीं पाया। दौड़कर माँ के पास गया और भावावेश में उनसे लिपट गया।

प्रश्ना 4.
‘नारी ईश्वर की सुंदर रचना है।’ कलाम को ऐसा क्यों लगा?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 5
उत्तर:
कलाम नारी को आदर करनेवाले है। कलाम अपनी माँ को ईश्वर समान मानते हैं। माँ ही उनके लिए सबकुछ है। माँ की ममता कलाम को सदा लिपटती थी। उनकी हर उन्नति पर माँ का हाथ रहा था। वे अपनी माँ के नाश्ते के बारे में अग्नि की उडान’ पर याद करते हैं। शायद इसीलिए उन्हें ऐसा लगा होगा।

मेरी ममतामई माँ Text Book Activities

प्रश्ना 1.
मिलान करें:

महायुद्ध का प्रभाव रामेश्वरम में भी हुआ।  इसलिए भाई-बहनों की तुलना में विरोष भोजन मिलता था।
बालक कलाम पढ़ाई और कमाई एक साथ करता था। वह भावावेश में उनसे लिपट गया।
बालक कलाम संयुक्त परिवार में रहता था। सभी वस्तुओं की किल्लत हुई।
 माँ का प्यार समझकर बालक कलाम को सिहरन की अनुभूति हुई। वहाँ खुशी और ग़म का अनुभव होता था।

उत्तर:

महायुद्ध का प्रभाव रामेश्वरम में भी हुआ। सभी वस्तुओं की किल्लत हुई।
बालक कलाम पढ़ाई और कमाई एक साथ करता था। इसलिए भाई-बहनों की तुलना में करता था। विरोष भोजन मिलता था।
बालक कलाम संयुक्त परिवार में रहता था। वहाँ खुशी और ग़म का अनुभव होता था।
 माँ का प्यार समझकर बालक कलाम को सिहरन की अनुभूति हुई। वह भावावेश में उनसे लिपट गया।

प्रश्ना 2.
बातचीत लिखें।
‘उस दिन पहली बार मुझे सिहरन की अनुभूति हुई। मैं अपने आपको रोक नहीं सका। दौड़कर अपनी माँ के पास गया और भावावेश में उनले लिपट गया।’ इस प्रसंग पर बालक कलाम और माँ के बीच क्या-क्या बातें हुई होंगी?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 6
उत्तर:
कलाम : (दौडकर आता हुआ) माँ ………… ओ माँ ……..
माँ . : (लिपटती हुई) क्या हुआ बेटा?
कलाम : यह आपने क्या कर दिया? मुझे सिहरन हुई।
माँ : क्या बात है?
कलाम : आज आपने अपने हिस्से की रोटियाँ भी मुझे दे दी!
माँ : हाँ, तुम तो भूखा था न, इसलिए।
कलाम : तो आप स्वयं भूखी रहकर मुझे दे दिया?
माँ : तुम तो पढ़ाई और कमाई एकसाथ करते है न।
कलाम : इतनी कुरबानी मेरे लिए क्यों माँ?
माँ : क्योंकि मैं तेरी माँ हूँ और तुम मेरे लाडले हो।
कलाम : हमारे घर की हालत उतनी अच्छी नहीं है माँ।
माँ : मैं संभालूँगी बेटा। तुम फिकर मत कर।
कलाम : आप भूखों मत मरेगी। यह मेरी वादा है।
माँ : (प्यार से सहलाती हुई) जा जाकर कुछ पढ़ाई कर।

HSSLive.Guru

प्रश्ना 3.
नमूने के अनुसार बदलकर लिखें।

बालक कलाम पढ़ाई के साथ कमाई भी करता था। बालक कलाम पढ़ाई के साथ कमाई भी करता है।
गणित-शिक्षक पाँच छात्रों को पढ़ाते थे।

उत्तर:

बालक कलाम पढ़ाई के साथ कमाई भी करता था। बालक कलाम पढ़ाई के साथ कमाई भी करता है।
गणित-शिक्षक पाँच छात्रों को पढ़ाते थे। गणित-शिक्षक पाँच छात्रों को पढ़ाते है।

मेरी ममतामई माँ विधात्मक प्रश्न

प्रश्ना 1.
“उन्होंने अपने हिस्से की भी सारी रोटियाँ तुम्हें दे दी। एक ज़िम्मेदार बेटा बनो और अपनी माँ को भूखों मत मारों।” बड़े भाई ने कलाम को डाँटा तो उसे क्या लगा होगा? उसकी डायरी कल्पना करके लिखें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 7
उत्तर:
25 जून 2019
बडे भाई का डाँट सुनकर आज पहली बार मुझे सिहरन की अनुभूति हुई। मैं अपने आपको रोक नहीं सका। मैं दोडकर अपनी माँ के पास गया। फिर भावावेश में उनसे लिपट गया। माँ की कुरबानी इतनी क्यों? घर की हालत उतनी अच्छी नहीं थी। युद्ध : के कारण सभी वस्तुओं की किल्लत हो गई थी। विशाल संयुक्त परिवार में रोटियों की भी कमी महसूस हुई थी। फिर भी माँ स्वयं भूखी रहकर उनकी सारी रोटियाँ मुझे दे दी। सिर्फ माँ ऐसा कर सकती है। वे कितने दयालू, स्नेहशील और धार्मिक प्रवृत्ति की महिला थीं। सदा मैं उनसे प्रेरित थी। मेरी माँ ही सबकुछ है। आगे मेरी दृष्टि उनके स्वास्थ्य पर भी होगा। अगले दिन की प्रतीक्षा में….

मेरी ममतामई माँ Additional Questions and Answers

प्रश्ना 1.
‘कलाम के घर में खुशी और गम का आना जाना लगा रहता था’- इसका कारण क्या होगा?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 8
उत्तर:
कलाम का परिवार संयुक्त परिवार है। संयुक्त परिवार में सदस्यों की संख्य ज़्यादा है। तो हमेशा कुछ खुशी या कुछ गम आते जाते रहेंगे।

HSSLive.Guru

प्रश्ना 2.
कलाम के गणित के शिक्षक की शिक्षण रीति कैसी थी?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 9
उत्तर:
गणित के शिक्षक श्री स्वामियार निःशुल्क ट्यूशन पढ़ाते थे। वे एक साल में पाँच ही छात्रों को पढ़ाते थे। उनका एक ही शर्त था कि बच्चे स्नान करके पाँच बजे कक्षा में उपस्थित हो जाएँ।

प्रश्ना 3.
कलाम की चरित्रगत विशेषताओं पर टिप्पणी तैयार करें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 10
उत्तर:
सुबह पाँच बजे उठकर श्री स्वामियार के पास गणित पढ़ने जाते थे। साढ़े पाँच बजे घर वापस लौटता। बाद में नमाज़ उदा करने को और कुरान शरीफ़ सीखने के लिए पिता के साथ जाता। उसके बाद तीन किलोमीटर दूरी पर रामेश्वरम रोड़ रेलवेस्टेशन पैदल जाता था। प्रस्तुत पंक्तियों से बालक कलाम बहुत ही परिश्रमी जान पडता है और ईमानदार भी धनुष्कोडी मेल से समाचार पत्रों का बंडल लेता और तेज़ी से शहर के लोगों तक पहुँचाता था। कलाम की समय पर पाबंदी यहाँ बहुत ही स्पष्ट है। वह अपनी ज़िम्मेदारी ठीक तरह से निमाने वाला भी है। वह अपनी माँ को बहुत प्यार करता है। जब उसका भाई उसे डाँटा तो तुरंत ही दौडकर जाते हुए माँ को लिपट लेता है। वह नारी को ईश्वर की सुंदर रचना मानता है। स्त्रियों को आदर करने में वह सदा आगे है। इसप्रकार स्वाभिमानी, परिश्रमी, सेवाव्रती, ज़िम्मेदार एवं मानवता के व्यक्तित्व है बालक कलाम।

मेरी ममतामई माँ Summary in Malayalam and Translation

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 11
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 12
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 13
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 14

HSSLive.Guru

मेरी ममतामई माँ शब्दार्थ

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 5 Chapter 1 मेरी ममतामई माँ 15

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 4 Chapter 3 दौड़

You can Download दौड़ Questions and Answers, Summary, Activity, Notes, Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 4 Chapter 3 help you to revise complete Syllabus and score more marks in your examinations.

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 4 Chapter 3 दौड़ (लेख)

दौड़ Textual Questions and Answers

दौड़ विधात्मक प्रश्न

प्रश्ना 1.
बारिश का अनुभव सुहाना होता है। आपको बारिश कैसे महसूस होता है? इसपर एक छोटा-सा संस्मरण लिखें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 4 Chapter 3 दौड़ 1
उत्तर:
बारिश मेरे लिए बहुत खुशी का अवसर था। बारिश देखने के लिए मैं अपने घर की खिड़की के पास खड़ा होता था। बारिश में छाता लेकर स्कूल जाना मुझे बहुत पसंद था। पीठ पर बस्ता टाँगकर, एक हाथ में छाता पकड़कर, दूसरे हाथ से छाते के कोने से आता पानी. को छुआ करता था। खेल घंटी के समय अगर बारिश होता तो कागज़ से नाव बनाकर पानी रख देते थे। बहती नाव के साथ हम भी दौडते थे। बारिश की ठंड में चादर ओढ़कर सोना भी मुझे पसंद था।

दौड़ Summary in Malayalam and Translation

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 4 Chapter 3 दौड़ 2
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 4 Chapter 3 दौड़ 3
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 4 Chapter 3 दौड़ 4

HSSLive.Guru

दौड़ शब्दार्थ

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 4 Chapter 3 दौड़ 5
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 4 Chapter 3 दौड़ 6

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 2 Chapter 4 फूलों का शो

You can Download फूलों का शो Questions and Answers, Summary, Activity, Notes, Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 2 Chapter 4 help you to revise complete Syllabus and score more marks in your examinations.

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 2 Chapter 4 फूलों का शो (लेख)

फूलों का शो Textual Questions and Answers

प्रश्ना 1.
किसी एक त्योहार की ऐतिहासिक या सांस्कृतिक पृष्ठभूमि पर लेख लिखें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 2 Chapter 4 फूलों का शो 1
उत्तर:
ओणम : फूलों का त्योहार
ओणम केरल का त्योहार है। केरल के लोग बड़े उत्साह से ओणम’ मनाते हैं। ‘ओणम’ के साथ राजा महाबली और वामन-अवतार की पौराणिक कथा जुड़ी हुई है। राजा महाबली बहुत ही न्यायप्रिय और परम दानवीर था। उसके शासन में प्रजा बहुत सुखी थी। ऐसा विश्वास है कि ‘ओणम’ के दिन महाबली अपनी प्रजा को देखने आते हैं। प्रजा उनका स्वागत-सत्कार करती है। वैसे भी ‘ओणम’ को ‘फूलों का पर्व’ कहा जाता है। क्योंकि ओणम के दस दिन पहले से ही घरों के आँगन में फूलों से रंगोली बनाते हैं।

HSSLive.Guru

फूलों का शो Summary in Malayalam and Translation

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 2 Chapter 4 फूलों का शो 2
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 2 Chapter 4 फूलों का शो 3
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 2 Chapter 4 फूलों का शो 4

HSSLive.Guru

फूलों का शो शब्दार्थ

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 2 Chapter 4 फूलों का शो 5

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक

You can Download पक्षी और दीमक Questions and Answers, Summary, Activity, Notes, Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 help you to revise complete Syllabus and score more marks in your examinations.

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक (कहानी)

पक्षी और दीमक Textual Questions and Answers

पक्षी और दीमक विश्लेषणात्मक प्रश्न

प्रश्ना 1.
पक्षी अपने पंख देकर दीमक लेता है। यहाँ पक्षी का कौन-सा मनोभाव प्रकट होता है?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 1
उत्तर:
नौजवान पक्षी को अपने भविष्य और अस्तित्व के संबंध में कोई चिंता नहीं है। कोई मेहनत किए बिना, आसानी से मिलनेवाले भोजन से संतुष्ट होने का मनोभाव उसमें है।

प्रश्ना 2.
‘दीमकें हमारा स्वाभाविक आहार नहीं है, और उनके लिए अपने पंख तो हरगिज़ नहीं दिए जा सकते।’-इस कथन के आधार पर वर्तमान संस्कृति का विश्लेषण करें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 2
उत्तर:
यहाँ हमारी खाद्य संस्कृति की ओर संकेत किया गया है। हम अपने स्वाभाविक आहार को छोड़कर फास्टफुड़ संस्कृति के पीछे भाग रहे हैं। शुरु में बड़ी रसीली लगेगी। लेकिन अंतिम परिणाम भयानक होगा।

HSSLive.Guru

प्रश्ना 3.
पक्षी को बेवकूफ़ कहने के संबंध में आपकी राय क्या है?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 3
उत्तर:
यह बिलकुल सही है। यह पक्षी प्रलोभन में फंसकर अपना अस्तित्व खोता है। अंत में वह अपना अस्तित्व वापस लेने का प्रायास तो करता है। तब तक उसका सब कुछ नष्ट हो जाता है। पक्षी का व्यवहार बेवकूफ़ी ही है।

पक्षी और दीमक Text Book Activities

पक्षी और दीमक अभ्यास के प्रश्न

प्रश्ना 1.
नमूने के अनुसार कहानी के प्रसंगों को चुनकर लिखें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 4
उत्तर:

 व्यवहार प्रसंग
अलसतापूर्ण कार्य करना। नौजवान पक्षी को लगा- यह बहुत बड़ी सुविधा है कि एक आदमी दीमकों को बौरों में भरकर बेच रहा है।
तात्कालिक लाभ के लिए अस्तित्व नष्ट करना। गाड़ीवाले को एक पंख देकर, दो दीमकें खरीद लेता।
बड़ों की बातों को बिना सझ-बझ के धिक्कारना। नौजवान पक्षी ने बड़े ही गर्व से अपना मुँह दूसरी ओर कर लिया।
 प्रलोभन में पूरी तरह फँस जाना। अब उसे न तो दूसरे कीड़े अच्छे लगते, न फल, न अनाज के दाने। दीमकों का शौक अब उसपर हावी हो गया था।
अपनी गलतियों पर सफ़ाई खोजना। उसने सोचा कि आसमान में उड़ना ही फिजूल है। वह मूखों का काम है।
 खोए हए अस्तित्व को फिर से पाने की कोशिश करना।  वह खूब मेहनत से ज़मीन में से दीमकें चुन-चुनकर, खाने के बजाय, उन्हें इकट्ठा करने लगा।
धोखेबाजी को पहचानकर निराश होना। गाड़ीवाला चला गया। पक्षी छटपटाकर रह गया।

प्रश्ना 2.
‘पक्षी और दीमक’ कहानी में ये किन-किन का प्रतिनिधित्व करते हैं?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 5
उत्तर:

गाड़ीवाला पक्षी दीमक पंख बिल्ली
व्यापारी / उद्योगपति नौजवान प्रलोभन अस्तित्व शोषक

प्रश्ना 3.
आज के ज़माने में ‘पक्षी और दीमक’ कहानी की प्रासंगिकता कहाँ तक है? चर्चा करके टिप्पणी लिखें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 6
उत्तर:
अस्तित्व बनाए रखने की माँग करनेवाली कहानी : पक्षी और दीमक
मुक्तिबोध से लिखी गई प्रसिद्ध कहानी है ‘पक्षी और दीमक’। इसमें एक नौजवान पक्षी अपना पंख देकर दीमक खरीदकर खाने लगता है। अपने माता-पिता के उपदेश तक को वह सुनता नहीं है। अंत में पंख सब नष्ट होने पर वह चटपटाता है। दीमकों को इकटठा करके, उसके बदले व्यापारी से पंख वापस लेने का विफल प्रयास वह करता है। लेकिन वह धोखा खाता है।

अंत में वह एक काली बिल्ली से पकड़ा जाता है। ऊपर से देखने पर यह एक फांटसी-सा लगता है। लेकिन कहानी की गहराई पर जाते वक्त हम समझ सकते हैं कि यह फांटसी नहीं, बल्कि वर्तमान वास्तविकता है। आजकल कार्परेट हमें लूट रहे हैं। विज्ञापन के ज़रिए हमारे सामने कई प्रलोभन प्रस्तुत करते हैं। हम नौजवान बिना सोचे-समझे उसमें फँस जाते हैं। अंत में हम अपना अस्तित्व खोते हैं। जब हम अपनी गलती समझते हैं, तब तक सब कुछ नष्ट हो जाता है। आज के ज़माने में यह कहानी बिलकुल प्रासंगिक है।

HSSLive.Guru

प्रश्ना 4.
पक्षी की चरित्रगत विशेषताओं का विश्लेषण करें। टिप्पणी लिखें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 7
उत्तर:
‘पक्षी और दीमक’ का पक्षी आलसी स्वभाव का है। परिश्रम के बिना भोजन पाने का इच्छुक है। इसी कारण से वह जल्दी व्यापारी के प्रोलोभन में फँस जाता है। पंख निकालकर देने में उसे दर्द है। पर भी अपनी अलसता के कारण उसने उस दर्द को सह लिया। सब कुछ खोने पर वह अपनी गलती समझता भी है। लेकिन तब तक उसका अस्तित्व नष्ट हुआ था।

प्रश्ना 5.
पक्षी और दीमक’ कहानी को फ़िल्माने के लिए पटकथा तैयार करें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 8
उत्तर:
दृश्य – 1 : सबेरे का आकाश
तीन पक्षी बात करते हुए उड़ रहे हैं।
एक पक्षी : देखो उड़ते-उड़ते हम बहुत ऊपर आ गए!
दूसरा पक्षी : नीचे देखो, सब कुछ छोटा-छोटा!
तीसरा पक्षी : देखो, एक बैलगाड़ी चल रही है।
दूसरा पक्षी : मुझे कुछ दिखता नहीं।
तीसरा पक्षी : मैं जाकर देखू। (उड़ते हुए नीचे जाता है)

दृश्य – 2 : सड़क। सबेरा।
किनारे के पेड़ के डाल पर तीसरा पक्षी आ बैठता है। सड़क से गाड़ीवाला बैलगाड़ी लेकर आता है। बैलगाड़ी में भरे बोरों में दीमकें हैं। गाड़ीवाले की ‘दीमकें ले लो… दीमकें ले लो…’ की आवाज़ सुनती रहती है। पक्षी और गाड़ीवाला बात करते हैं।
गाड़ीवाला : दीमकें ले लो… दीमकें ले लो…
पक्षी : ओ गाड़ीवाले दीमकों का क्या भाव है?
गाड़ीवाला : एक पर दे दो, मैं दो दीमकें दे दूंगा।
पक्षी : पर!
गाड़ीवाला : हाँ, पर। यह दीमक तो बहुत स्वादिष्ट है। चाहे तो ले लो।
पक्षी : ठीक है, गाड़ीवाले। लो एक पंख। दो दीमकें दो।
(पक्षी कठिनाई से पर तोड़कर गाड़ीवाले को देता है और दो दीमकें लेकर उड़ जाता है)

पक्षी और दीमक Grammar

पक्षी और दीमक व्याकरण के प्रश्न

प्रश्ना 1.
इसपर विचार करें:
रेखांकित शब्दों पर ध्यान दें ये शब्द कैसे बने हैं? क्या इनका विभाजन संभव है? तो कैसे?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 9
उत्तर:
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 10

प्रश्ना 2.
पूरी इकाई से एक बार और गुज़रें। ऐसे परसर्गयुक्त सर्वनामों को पहचानें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 11
उत्तर:
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 12
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 13

पक्षी और दीमक Additional Questions and Answers

पक्षी और दीमक आशयग्रहण के प्रश्न

प्रश्ना 1.
नौजवान पक्षी को कौन-सी बात बड़ी सुविधा लगी?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 25
उत्तर:
नौजवान पक्षी को बड़ी सुविधा लगी कि एक आदमी दीमकों को बोरों में भरकर बेच रहा है।

HSSLive.Guru

प्रश्ना 2.
अपनी चोंच से एक पर को खींचकर तोड़ने में उसे तकलीफ होती है। लेकिन उसे वह बरदाश्त कर लेता है’ -पक्षी द्वारा अपनी तकलीफ को बरदाश्त करने का कारण क्या होगा?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 14
उत्तर:
वह नौजवान पक्षी स्वभाव से आलसी है। वह जल्दी ही गाड़ीवाले के प्रलोभन में फँस गया।

पक्षी और दीमक Summary in Malayalam and Translation

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 15
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 16
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 17
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 18
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 19
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 20
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 21

HSSLive.Guru

पक्षी और दीमक शब्दार्थ

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 22
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 23
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 3 पक्षी और दीमक 24

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 1You can Download टीवी Questions and Answers, Summary, Activity, Notes, Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 help you to revise complete Syllabus and score more marks in your examinations.

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी (पटकथा)

टीवी Text Book Activities

टीवी विधात्मक प्रश्न

प्रश्ना 1.
डायरी लिखें।
गोपू घर पहुंचा। वह यादों में खो गया। फिर डायरी लिखने लगा। लिखें, गोपू की डायरी।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 1
उत्तर:
11 जुलाई 2016
पहाड़पुर
सबेरे जो किया ठीक नहीं हुआ। घर से निकलते समय लल्लू और चुन्नी को टीवी दिखाने की आशा थी। पर मनोहर चाचा का घर इतना दूर था, यह जानता नहीं था। बेचारे मेरी बातों पर विश्वास कर गए। मेरा तो एक ही निशान था- एन्टीना। लेकिन वहाँ तो हर कहीं एन्टीना थे। मैं क्या करूँ। आगे से ऐसा नहीं करूँगा। घरवालों से कहकर ही कहीं जाऊँगा। यह सब झमेला चुपके से निकलने का था।

HSSLive.Guru

प्रश्ना 2.
पटकथा के आधार पर तालिका की पूर्ति करें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 2
उत्तर:
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 3
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 4
प्रश्ना 3.
पटकथा की मूल कथा पन्ना 23 में है। पढ़ें। कहानी की घटनाओं को क्रम से लिखें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 5
उत्तर:
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 6

प्रश्ना 4.
पटकथा और कहानी की तुलना करें और टिप्पणी लिखें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 7
उत्तर:
पटकथा कहानी से भिन्न होती है। लेकिन पटकथा के लिए एक कहानी की ज़रूरत है। कहानी के आधार पर ही अकसर पटकथा लिखी जाती है। इसमें संवाद और संवादों के बीच होनेवाली घटनाओं व दृश्यों का विस्तृत ब्योरा होता है। कहानी को जो क्रम होता है, कभी-कभी पटकथा में उसे अलग ढंग से दर्शाया जाता है। कभी फ्लैशबैक के रूप में घटनाओं को दिखाया जाता है। कहानी के संवाद से पटकथा के संवाद भिन्न होते हैं। दृश्य का विवरण अकसर वर्तमान काल में लिखा जाता है। इसमें चाल-चलन एवं दृश्य का विवरण भी अलग ढंग से रहता है।

टीवी Additional Questions and Answers

टीवी आशयग्रहण के प्रश्न

प्रश्ना 1.
कसम खाना से क्या मतलब है?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 8
उत्तर:
‘कसम खाना’ का मतलब है- सत्य का प्रण करना।

HSSLive.Guru

प्रश्ना 2.
गोपू के इलाके में टीवी नहीं आता था। इसके क्या कारण हो सकते हैं?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 9
उत्तर:
वह इलाका भौगोलिक रूप से पिछड़ा हुआ था। ऐसे प्रदेशों में विकास देर से आता है। शायद शासक वर्ग इस इलाके को अनदेखा कर रहा होगा।

प्रश्ना 3.
गोपू को टीवी का कार्यक्रम जादू-सा लगा। क्यों?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 10
उत्तर:
गोपू पहले-पहल टीवी देख रहा है। उसकी तकनीकी बातों से वह अनजान है। इसलिए उसे टीवी का कार्यक्रम जादू-सा लगा।

प्रश्ना 4.
चुन्नी के रुआंसी होने का क्या कारण है?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 11
उत्तर:
टीवी देखने के लिए घर से चुपके से निकले थे। अब देर होने लगी थी। मनोहर चाचा का .घर कहीं दिखता नहीं था। वह डर गई थी।

प्रश्ना 5.
मनोहर चाचा का घर पहचानने में गोपू को दिक्कत हुई। क्यों?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 12
उत्तर:
मनोहर चाचा का घर पहचानने के लिए गोपू के पास एक ही निशान था- टीवी का एन्टीना। लेकिन यहाँ सभी के घरों के छतं पर एन्टीना लगा हुआ था। इसलिए उसे मनोहर चाचा का घर पहचानने में दिक्कत हुई।

टीवी Summary in Malayalam and Translation

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 13
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 14
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 15
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 16
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 17
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 18
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 19
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 20
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 21
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 22
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 23
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 24

HSSLive.Guru

टीवी शब्दार्थ

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 25
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 26
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 2 टीवी 27

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ

You can Download पुल बनी थी माँ Questions and Answers, Summary, Activity, Notes, Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 help you to revise complete Syllabus and score more marks in your examinations.

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ (कविता)

पुल बनी थी माँ Textual Questions and Answers

पुल बनी थी माँ आशयग्रहण के प्रश्न

प्रश्ना 1.
‘पुल बनी थी माँ’ से क्या तात्पर्य है?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 1
उत्तर:
पुल दो किनारों को आपस में जोड़ता है। माँ परिवार के हर सदस्य को आपस में जोड़नेवाली कड़ी थी। इसलिए माँ को पुल कहा गया है।

प्रश्ना 2.
‘बुढ़ा रही है माँ’ इसका आशय क्या है?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 2
उत्तर:
प्रस्तुत पंक्ति का आशय यह है कि माँ के शरीर पर बुढ़ापे का असर दिखने लगा। वह शारीरिक और मानसिक रूप से कमज़ोर होने लगी।

HSSLive.Guru

प्रश्ना 3.
‘माँ आख़िर माँ ही तो है’ इससे आपने क्या समझा?
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 3
उत्तर:
इसका मतलब है कि माँ का मातृत्व बच्चों की कठिनाइयों को अच्छी तरह जानता है। अर्थात् माँ अपने बच्चों के बारे में सबकुछ जानती है।

पुल बनी थी माँ Text Book Activities

पुल बनी थी माँ अभ्यास के प्रश्न

प्रश्ना 1.
बेटों का जीवन बेरोकटोक चलती गाड़ी के समान रहा।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 15
उत्तर:
दौड़ती रहती थी बेधड़क
बिना किसी हरी लाल बत्ती के
हम लोगों की छुक छुक छक छक

प्रश्ना 2.
माँ की देख-भाल की ज़िम्मेदारी बेटों पर आ गई।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 4
उत्तर:
हाथों हाथ रहती माँ
एक दिन हमारे कंधों में आ गई

प्रश्ना 3.
बेटे अपने दायित्व बदलते रहे।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 5
उत्तर:
जब तक जीवित रही माँ।
हम बदलते रहे अपने कंधे

HSSLive.Guru

प्रश्ना 4.
माँ के चले जाने से बेटे बेसहारे बने।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 6
उत्तर:
और माँ के कंधों से उतरते ही
उतर गए हमारे कंधे

पुल बनी थी माँ विधात्मक प्रश्न

प्रश्ना 1.
कविता का परिचय देते हुए टिप्पणी लिखें।
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 7
उत्तर:
पुल बनी थी माँ : बदलते पारिवारिक संबंधों की आलोचना
कविता ‘पुल बनी थी माँ’ बूढ़े-बुजुर्गों के प्रति उत्तरदायित्वों से विमुख होती जा रही नई पीढ़ी के व्यवहार को दर्शाता है। कविता में माँ के पुल होने और पुल से बोझ बनने की हालत पर चर्चा की गई है।

माँ भाइयों के बीच पुल बनी थी। पुल दो किनारों को आपस में जोड़ता है। माँ परिवार के हर सदस्य को आपस में जोड़नेवाली कड़ी रही। इस माँ रूपी पुल से बच्चों की जिंदगी रूपी रेल गाड़ी बेरोकटोक चलती रही। पिता के चल बसने के बाद भी भाइयों के बीच माँ पुल बनी रही। माँ धीरे-धीरे टूटने लगी। यानी मानसिक रूप से वह धीरे-धीरे कमज़ोर होती गई। उसके शरीर पर बुढ़ापे का असर दिखने लगा। वह शारीरिक रूप से भी
कमज़ोर होने लगी थी। एक ही बात को माँ बार-बार कहने लगी। बच्चे इस आदत को उनके बढ़ते हुए बुढापे की निशानी मानकर जीने लगे। उसकी आवाज़ कमज़ोर होती रही। वह धीरे-धीरे दुर्बल होती रही।

बच्चों के प्रति प्यार और दुलार से रहनेवाली माँ एक दिन बच्चों के आश्रय में आ गईं। धीरे-धीरे बच्चों के सशक्त कंधों में माँ बोझ बन गईं। जब तक बूढ़ी माँ जीवित रही, बच्चे माँ की देखरेख की ज़िम्मेदारी एक दूसरे के कंधों पर डालते रहे। सारी जिंदगी बच्चों के लिए जीनेवाली माँ बुढ़ापे में बच्चों के लिए भार बन गई। पर माँ का मातृत्व बच्चों की इस कठिनाई को सह नहीं पाया। वह स्वयं उनके कंधों से उतर गई मतलब उसका अंतिम प्रयाण हो गया। माँ के अभाव में बच्चे बेसहारे बन गए। कविता में प्रयुक्त शब्द, कथन और मुहावरे- वृषभ कंधा, कंधा बदलना, उतर गए कंधे आदि कविता को और सशक्त बनाया है।

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 8

पुल बनी थी माँ Summary in Malayalam and Translation

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 9
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 10
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 11
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 12

HSSLive.Guru

पुल बनी थी माँ शब्दार्थ

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 13
Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Unit 1 Chapter 1 पुल बनी थी माँ 14

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Guide

Expert Teachers at HSSLive.Guru has created Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Guide Pdf Free Download of Textbook Questions and Answers, Chapter Wise Notes, Activity Answers, Chapters Summary in Malayalam, Hindi Study Material, Teachers Hand Book are part of Kerala Syllabus 9th Standard Textbooks Solutions. Here HSSLive.Guru has given SCERT Kerala State Board Syllabus 9th Standard Hindi Textbooks Solutions Pdf of Kerala Class 9 Part 1 and Part 2.

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Textbooks Solutions

Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Guide

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Textbooks Solutions Part 1

इकाई 1

इकाई 2

इकाई 3

Kerala State Syllabus 9th Standard Hindi Textbooks Solutions Part 2

इकाई 4

इकाई 5

We hope the given Kerala Syllabus 9th Standard Hindi Solutions Guide Pdf Free Download of Textbook Questions and Answers, Chapter Wise Notes, Activity Answers, Chapters Summary in Malayalam, Hindi Study Material, Teachers Hand Book will help you. If you have any queries regarding SCERT Kerala State Board Syllabus Class 9th Hindi Textbooks Answers Guide Pdf of Part 1 and Part 2, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

Kerala Syllabus 9th Standard Textbooks Solutions Guide

Expert Teachers at HSSLive.Guru has created Kerala Syllabus 9th Standard Textbooks Solutions Guide Pdf Free Download all Subjects in both English Medium and Malayalam Medium of Chapter wise Questions and Answers, Notes are part of Kerala Class 9 Solutions. Here HSSLive.Guru has given SCERT Kerala State Board Syllabus 9th Standard Textbooks Solutions Pdf Part 1 and Part 2.

Students can download SCERT Kerala Textbooks for Class 9 English Malayalam Medium

Kerala State Syllabus 9th Standard Textbooks Solutions

We hope the given Kerala Syllabus 9th Standard Textbooks Solutions Guide Pdf Free Download all Subjects in both English Medium and Malayalam Medium of Chapter wise Questions and Answers, Notes will help you. If you have any queries regarding SCERT Kerala State Board Syllabus Class 9th Textbooks Answers Guide Pdf of Part 1 and Part 2, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.